#MeeToo: एमजे अकबर पर आरोप, पर किस BJP महिला नेता ने क्या कहा?

केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी ने महिलाओं के साथ हो रहे यौन शोषण पर बात करते हुए कहा, “महिलाएं ऑफिस खुद का शोषण करवाने के लिए नहीं जाती”.
#MeeToo अभियान ने इस वक्त देशभर में हंगामा मचा रखा है. बॉलीवुड अभिनेत्री तनुश्री दत्ता के नाना पाटेकर पर यौन शोषण के आरोप लगाने के बाद कई महिलाएं अब अपनी कहानी लकर सामने आ रही हैं. एक के बाद एक महिलाओं के आवाज उठाने से कई लोगों के चेहरे बेनकाब हुए हैं. इन लोगों में केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री एम.जे. अकबर और आलोक नाथ जैसे लोगों के नाम भी शामिल हैं.
“मी टू” अभियान की शुरुआत में महिला नेताओं ने चुप्पी साध रखी थी. लेकिन अब वो अपनी बात सामने रख रही हैं. इस पर अब तक विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कुछ नहीं बोला है लेकिन केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, निर्मला सीतारण ने अभियान में आगे आने वाली महिलाओं को सराहा है. जबकि कांग्रेस से बीजेपी में शामिल होने वाली रीता बहुगुणा एम . जे. अकबर के बचाव में सामने आयीं हैं.
ईरानी ने महिलाओं के साथ हो रहे यौन शोषण पर बात करते हुए कहा, ‘कोई भी महिला अपना शोषण करवाने ऑफिस नहीं जाती है. वो अपने सपनों को पूरा करने और बेहतर जिंदगी के लिए काम पर जाती हैं . उन्होंने कहा, जो भी महिलाएं अभी सामने आ रहीं हैं, मैं आशा करती हूं कि उन सभी को इंसाफ मिलेगा.’
वहीं एम. जे. अकबर के मामले पर बात करते हुए स्मृति इरानी ने कहा कि “जो शख्स इस मामले से जुड़े हुए हैं उन्हें ही इस मामले पर बात करनी चाहिए. उन्होंने कहा कि जो भी महिलाएं इस मामले में सामने आ रहीं हैं उन्हें कभी भी शर्म महसूस करने की जरूरत नहीं है.”
दूसरी तरफ बीजेपी नेता रीता बहुगुणा जोशी ने एम. जे. अकबर के मामले पर बोलते हुए कहा कि इस्तीफे का कोई सवाल ही नहीं उठता है. उन्होंने कहा कि “सवाल यह है कि जब आप किसी पर आरोप लगाते हैं तो वह साबित होना चाहिए. सभी महिलाओं के पास आरोप लगाने का आधिकार है और इसकी जांच भी होनी चाहिए”. उन्होंने कहा कि “महिलाओं ने अपनी बात रख दी है. पुरुषों को भी अपनी बात रखने का अधिकार है.”

वहीं रक्षा निर्मला सीतारमण ने इस मामले पर बात करते हुए कहा कि “जो भी महिलाएं अपने साथ हुए यौन शोषण के खिलाफ आवाज उठा रहीं हैं, मैं उनकी हिम्मत को सलाम करती हूं.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *