CBSE Class 10th Exam 2019: पासिंग क्राइटेरिया, पास होने के लिए चाहिए इतने मार्क्स…

अभी तक छात्रों को 10 वीं की परीक्षा में पास होने के लिए थ्योरी और प्रैक्टिकल दोनों में अलग-अलग 33-33 प्रतिशत अंक लाने होते थे

सीबीएसई बोर्ड ने 10 वीं के छात्रों को बड़ी राहत दी है. सीबीएसई चेयरमैन अनीता करवाल ने बताया कि 10 वीं के छात्रों को राहत देते हुए बोर्ड ने फैसला लिया है कि 10 वीं के छात्रों के लिए पासिंग क्राइटेरिया आसान किया जाए. अब अगले वर्ष होने वाली दसवीं की परीक्षा में छात्रों को किसी भी विषय के थ्योरी और प्रेक्टिकल दोनों में मिलाकर कम से कम 33 प्रतिशत अंक लाने होंगे.
अभी तक छात्रों को 10 वीं की परीक्षा में पास होने के लिए थ्योरी और प्रैक्टिकल दोनों में अलग-अलग 33-33 प्रतिशत अंक लाने होते थे. कहा जा रहा है कि बोर्ड इस फैसले को अगले साल तक लागू कर देगा. इससे पहले, बोर्ड की चेयरमैन अनीता करवाल ने फरवरी 2018 में कहा था कि ये नियम सिर्फ साल 2018 के छात्रों के लिए है. लेकिन उस वक्त ये नियम लागू नहीं किया गया.
सीबीएसई के देश भर में 18,000 से ज्यादा स्कूल हैं . उम्मीद जताई जा रही है कि 2019 में सीबीएसई की 10 वीं की परीक्षा में 10 लाख से अधिक छात्र शामिल हो सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *