हार्दिक पटेल ने लगाया कांग्रेस के प्लान में पलीता



हार्दिक और राहुल की मुलाकात की वीडियो लीक होने से बदल गया सारा खेल.  
गुजरात की राजनीति को यू टर्न दे सकता है पाटीदार नेता हार्दिक पटेल की तरफ से कांग्रेस को दिया गया अल्टीमेटम. हार्दिक ने तीन नवंबर तक कांग्रेस को पाटीदारों के आरक्षण के मुद्दे पर  स्पष्ट तौर पर अपने विचार  और अपनी राय रखने को कहा है.
इधर जबकि कांग्रेस हार्दिक को प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से अपने पाले में आना तय मान रही थी ऐसे में हार्दिक पटेल का बयान कांग्रेस को खासा परेशानी में डालने वाला है.  
इधर राजनितिक हलकों में चर्चा है कि हार्दिक पटेल आखिर ऐसा क्यों कर रहे हैं? क्या हार्दिक पटेल कांग्रेस के साथ अपने नजदीकी होने की खबर का खंडन करना चाहते हैं? 
राहुल गांधी के पिछले गुजरात दौरे के वक्त हार्दिक पटेल और राहुल गांधी की मुलाकात की खबर आने के बाद से ही इस बात के कयास लगाए जाने लगे थे कि हार्दिक पटेल कांग्रेस के साथ मिलकर बीजेपी को पटखनी देने की तैयारी में हैं. अहमदाबाद के ताज उमेद होटल के जिस कमरे में हार्दिक पटेल अंदर गए थे और उनके बाहर निकलने के बाद राहुल गांधी भी उसी कमरे से बाहर आए थे. सीसीटीवी फुटेज में यह बात साफ हो गई थी. लेकिन, हार्दिक पटेल ने इस तरह की किसी भी मुलाकात से इनकार किया था. हार्दिक पटेल ने साफ कर दिया था कि अगर हमें मिलना होगा तो सबको दिखाकर मिलेंगे.
राजनीतिक हलकों में हार्दिक पटेल और राहुल गांधी की मुलाकात की खबर लीक होने को हार्दिक पटेल की रणनीति की धार कुंद होने का संकेत माना जा रहा है. गुपचुप तरीके से मिल कर भाजपा को नुकसान पहुंचाने की हार्दिक की राजनितिक रणनीति अब सीसीटीवी फुटेज लीक होने के बाद खत्म होती दिख रही है. 
भाजपा मानकर चल रही है कि इसके बाद हार्दिक पटेल को लेकर पाटीदारों के भीतर भी भरोसा कम होगा और जब बात वोटिंग की होगी तो पहले की ही तरह एक बार फिर से पाटीदार भाजपा  के ही साथ खड़े रहेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *