सेहत : कुछ गलतफहमियां और सच्चाई

डायट को लेकर लोगों के मन में कई गलतफहमियां होती हैं. यहाँ हम ऐसी ही कुछ गलतफहमियां और उनकी सच्चाई के बारे में डायटीशियन श्वेता अमीन से सलाह लेकर आए हैं.

गलत फहमी – कार्बोहाइड्रेट सेहत के लिए नुकसानदायक होता है.

सच्चाई : कार्य करने के लिए शरीर को ऊर्जा की जरूरत होती है. जिसकी पूर्ति ग्लूकोज अर्थात कार्बोहाइड्रेट से होती है जो कि ब्राउन राइस, ज्वार, बाजरा आदि से मिलता है.

गलतफहमी : फैटी भोजन शरीर की फिटनेस खराब करता है.

सच्चाई : घी, तेल, चावल जैसे फैटी पदार्थ हमारे शरीर में कोशिकाओं के निर्माण का कार्य करते हैं.

गलतफहमी : चोट लगने पर खट्टे फल नहीं खाने चाहिए, ये घाव भरने से रोकते हैं.

सच्चाई : खट्टे फल जेसे मौसमी, संतरा, अंगूर और नींबू में विटामिन सी बहुतायत से पाया जाता है जो कि घावों को सूखने में मदद करता है.

गलतफहमी : आचार, चटनी, हाजमें की गोलियां भोजन को पचाने में सहायक होते हैं.

सच्चाई : ऐसा बिल्कुल भी नहीं होता है. भोजन को पचाने का कार्य पाचक रस करते हैं. इन ऊपरी पाचक पदार्थों से पाचन क्रिया बिगड़ भी सकती है. ये पाचक रसों को काम करने से रोकते हैं.

गलतफहमी : रात को नारियल पानी नहीं पीना चाहिए, इससे एसिडिटी हो जाती है.

सच्चाई : नारियल पानी शरीर के तापमान को कम करके ठंडा रखने में मदद करता है. सीने में जलन होने पर चिकित्सक नारियल पानी पीने की सलाह देते हैं. ये पेट के पीएच बैलेंस को बनाए रखता है. शरीर को डिहाइड्रेशन से भी बचाता है.

गलतफहमी : फैट फ्री फूड में जीरो कैलोरी होती है.

सच्चाई : फैट फ्री फूड में जीरो कैलोरी नहीं होती है. इसमें कम से कम तीन ग्राम फैट होता है इनको संरक्षित रखने के लिए ट्रांस फैट का प्रयोग किया जाता है जो शरीर और सेहत दोनों के लिए नुकसानदायक होता है.

गलतफहमी : सूखे मेवे खाने से मोटापा बढ़ता है जैसे काजू, बादाम, पिस्ता, अखरोट, किशमिश इत्यादि.

सच्चाई : सूखे मेवों में उच्च गुणवत्ता का फैट होता है जो कि सेहत के लिए अच्छा होता है. ज्यादा मात्रा में खाने से वजन बढ़ सकता है परंतु कम मात्रा में इन्हें अपने भोजन में शामिल करें.

हैल्थ अलर्ट:

भोजन हमेशा धीरे धीरे व चबा चबाकर खाना चाहिए. भोजन में सभी पोषक पदार्थों को शामिल करना चाहिए. असंतुलित भोजन सेहत के लिए नुकसान दायक होता है.

दिन की शुरूआत गुनगुने नींबू पानी से करें. यह शरीर में जमा टॉक्सिनस को निकालने का कार्य करता है. सुबह एक फल जरूर खाएं, सुबह सेब खाना शरीर के लिए फायदेमंद होता है.

भोजन में अधिक कार्बोहाइड्रेट वाली सब्जियां अरबी, आलू, शकरकंद कम शामिल करना चाहिए. भोजन के पश्चात मीठा खाने से बचें. शर्करा की आवश्यकता रोटी, सब्जी से पूरी हो जाती है. ऊपर से खाई हुई मिठाई शरीर में अतिरिक्त वसा जमाव करती है.
भोजन के तुरंत बाद किसी भी प्रकार का व्यायाम नहीं करना चाहिए.

भोजन की अतिरिक्त वसा निकालने के लिए नियमित व्यायाम या कसरत करनी चाहिए. ध्यान रहे कि कसरत, योगा नियमित किया जाए. उसे बीच में छोड़ा नहीं जाए, अन्यथा उसके उपयुक्त परिणाम नहीं मिलेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *