रिम झिम गिरे बारिश

बारिश की झड़ी में भीगते सदी के दो बेहतरीन कलाकार, चाय की दुकान पर बैठा गरमा- गरमा चाय की चुस्कियाँ लेता चाय वाला श्वेत श्याम रजत पट पर यह रोमांटिक द्रश्य एक अलौकिक , अनोखी, अनकही, पेटिंग बन जाती है. – किरन
फिल्म थी श्री ४२० इस यादगार द्रश्य को आवाज दी थी मन्ना डेे और लता मंगेश्कर ने ‘‘प्यार हुआ इकरार हुआ ’’ भारत के सबसे बड़े शो मैन राजकपूर और नरगिस पर यह रोमांटिक गाना उन्हीं के विशेष अंदाज में फिल्माया गया है. संगीत दिया था शंकर जयकिशन ने. भारतीय सिनेमा को दुनिया भर के सिनेमा से कुछ अलग करता है तो वो हैं उसका गीत संगीत और जब ऐसे संगीत को बारिश की बूंदो के साथ पिरोया जाता है तो परदे पर पैरा होता है एक दिल और आत्मा को छू लेने वाला गीत संगीत. १९५७ में आई व्ही. शांताराम की भारतीय सिने जगत की क्लॉसिक फिल्म ‘‘दो आँख बारह हाथ’’ का ‘‘उमड़ घुमड़ के आई रे घटा ’’ भरत व्यास के बोल, वंसत देसाई के संगीत के साथ लता, मन्ना डे की आवाजों से सजा सिने जगत के यादगार गीतों में शामिल है. सचिन देव बर्मन के संगीत पर झूमते किशोर और उनकी खूबसूरत प्रेयसी मधुबाला पर फिल्माया गया ब्लैक एण्ड व्हाइट के जादू के साथ ‘‘इक लडक़ी भीगी भागी सी ’’ आज भी सदाबाहार बारिश के गानो में गिना और सुना जाता है.

‘‘ मंजिल ’’ फिल्म का किशोर दा की ही आवाज में अमिताभ पर फिल्माया योगेश का लिखा और पंचम दा के संगीत से सजा ‘‘रिमझिम गिरे सावन’’ रेडियो पर बजते ही सुनने वालों को भिगो कर उनके तन मन को सुलगा देता है.
१९६४ में आई फिल्म ‘‘शहनाई’’ का मोहम्मद रफी की मीठी आवाज और रवि के संगीत से सजा  ‘‘ना झटको जुल्फ से पानी’’ विश्वजीत और राजश्री पर फिल्माया गया था जिसमें राजेन्द्र कृष्ण के बोलों ने बारिश को नायिका के सौंदर्य से जोड़ दिया था. फिल्म(१९८१) की ‘‘प्यासा सावन’’ की मीठा मल्हार गीत आज भी सुनते समय सभी को बारिश में भिगो देता है  ‘‘मेघा रे मेघा रे मत परदेस जा रे’’ लता और सुरेश वाडेकर की आवाजों से सजा है इस गीत को फिल्माया गया है जितेन्द्र और मौसमी चटर्जी के ऊपर. गीत का संगीत दिया था लक्ष्मीकांत प्यारेलाल ने जबकी बोल थे संतोष आनन्द के .

बारिश की बूंदो में सुपर स्टार राजेश खन्ना और अपने समय की सैक्सी बाला जीनत अमान पर फिल्माया गया. ‘‘भीगी – भीगी रातों में मीठी -मीठी बातो में’’ अपनी बारिश और राजेश खन्ना के रोमांटिक अंदाज की वजह से अत्यंत लोकप्रिय है. इस गाने को गाया था लता और किशोर कुमार ने, बारिश की धून को पिरोया था इस गाने में सर्वकालिक संगीत कार राहुल देव बर्मन यानि ‘‘ पंचम दा ’’ ने. जब भी बात – चलती है बारिश की, बप्पी लहरी के संगीत और किशोर दा की बिंदास आवाज से सजा बारिश में फिल्माया गया ‘‘नमक हलाल’’ का गाना बरबस ही सभी को याद आ जाता है गीत के बोल लिखे थे अनजान ने इसे फिल्माया गया था सदी के महानायक अमिताभ और बेहतरीन अदाकारा स्मिता पाटिल के ऊपर याद आया आपको ? जी हाँ ! ‘‘आज रपट जाएँ तो हमें न उठइयो’’ . मस्त मस्त गर्ल रवीना टंडन और एक्शन कुमार अक्षय कुमार पर मोहरा फिल्माया ‘‘मोहरा’’ फिल्म का गाना ‘‘टिप टिप बरसा पानी  ’’ श्रोताओं को आज भी बारिश में लुभाता है. गाने का संगीत तैयार किया था वीजु शाह ने, आवाज दी थी अलका याज्ञिक और उदित नारायण ने. १९६० में आई देव साहब की फिल्म ‘‘काला बाजार’’ का छाते और रेनकोट के साथ बारिश में भीगते देव आनंद और वहीदा रहमान पर फिल्माया गया

‘‘ रिमझिम के तराने ले के आई बरसात ’’ को संगीत से सजाया है सचिन देव बर्मन ने, गीत के बोल लिखे हैं शैलेन्द्र ने , जबकी आवाजें हैं गीता दत्त और मो. रफी की
राज कपूर और नरगिस की रोमांटिक जोड़ी पर फिल्माया गया ‘‘हम से मिले तुम सजन’’  गीत ने बरसात फिल्म का टाइटल गीत बनकर लोकप्रियता बटोरी इस गीत को लिखा था शैलेन्द्र ने आवाज दी थी लता मंगेशकर ने.

‘‘अल्लाह मेघ दे पानी दे ’’ किशोर और आशा भौंसले की आवाजों से सजा ‘‘पलकों की छांव में’’ फिल्म का गीत भारतीय संस्कृति को पहचान देता है.

पंचम दा ने बारिश के कई गीतों को संगीत से सजाया था उनके संगीत से सजी उनकी आखरी फिल्म ‘‘१९४२ ए लवस्टोरी’’ का खूबसूरत बोलों से सजा ‘‘रिमझिम रिम झिम भीगी भीगी रूत में तुम हम’’ बारिश के काफी लोकप्रिय गीतों में शामिल है. इस रोमांटिक गीत को आवाज दी थी कुमार शानु और कविता कृष्णामूर्ति ने. गाने को फिल्माया गया था खूबसूरत नेपाली बाला मनीषा कोइराला और अनिल कपूर के ऊपर.
मि. इन्डिया में खूबसूरत अभिनेत्री नृत्यागंना श्रीदेवी और अनिल कपूर पर बारिश में फिल्माया गया ‘‘काटे नहीं कटती’’ गीत में बारिश और रात का अनोखा संयोग दिखाया गया है गीत के बोल लिखे हैं जावेद अख्तर ने, संगीत से सजाया है लक्ष्मीकांत प्यारेलाल ने, गीत का आवाज दी है किशोर कुमार और अलिशा चिनॉय ने.
श्रीदेवी पर ही फिल्माया गया एक और बारिश का लोकप्रिय गीत है फिल्म चालबाज का ‘‘ न जाने कहाँ से आई है ये लडक़ी ’’ इस गाने में रेन कोट और छाते को लेकर श्रीदेवी ने बेहद खूबसूरत अंदाज में नृत्य किया है.

यूँ तो भारतीय सिनेमा में बारिश में फिल्माए गए गीतों की लम्बी सूची है. लेकिन उनमें से कुछ गानों में बारिश को पूरी खुबसूरती के साथ दिखाया गया है. इनमें कुछ और गीत भी शामिल हंै रेन इज फोलिंग, टिपटिप बरसा पानी, भागे रे मन कहीं , कोई लडक़ी है जब वो हँसती है, जैसे ढेरो बारिश के गीतों से भारतीय सिनेमा समृद्ध है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *