मेकअप को टिकाएं देर तक

आजकल परमानेंट मेकअप ट्रेंड में हैं. इस मेकअप को करते समय थोड़ी जानकारी आपके लिए फायदेमंद साबित होगी.

परमानेंट मेकअप के समय सौंदर्य प्रसाधनों का सही तरीके से किया गया प्रयोग आप की खूबसूरती तो बढ़ाएगा ही, साथ ही हर रोज के मेकअप में लगने वाले समय को भी बचाएगा.

चेहरे की खूबसूरती में सबसे बड़ा योगदान होता है आंखों का. छोटी और मध्यम आंखों को भी मेकअप के द्वारा खूबसूरत, आकर्षक बनाने के साथ बड़ा भी दिखाया जा सकता है.

पर्मिंग किट : बाजार और पार्लर में तैयार पर्मिंग किट मिलते हैं इनमें पर्मिंग का पूरा सामान होता है. इसमें आंखों में लगाने के लिए दोनों आंखों के लिए रोलर और चार लोशन होते हैं. इसमें पिंक, व्हाइट, यलो और ट्रांसपेरेंट लोशन होता है. साथ मैं इयर बडस व ग्लू भी होता है.

यह लोशन आईलैशेज को परमानेंट कर्ल करता है, जिससे आंखें खूबसूरत और बड़ी नजर आने लगती है.

कैसे करें

ये पर्मिंग टैंपरेरी और परमानेंट दो तरह से होती है.

टैंपरेरी तरीका : इस तरीके में आईलैशेज को मशीन में रख कर हल्का सा दबाया जाता है. इसमें आईलेशेज अच्छी प्रकार से कर्ल हो जाती है. इस विधि से ज्यादा समय नहीं लगता है इसे जब चाहें तब आसानी से किया जा सकता है.

परमानेंट तरीका : यह तरीका छोटी आईलैशेज के लिए सबसे बेहतर है क्योंकि इससे छोटी आईलैशेज में भी कर्ल आ जाता है. यदि आईलैशेज की रोज की कर्लिंग से बचना चाहते हैं तो ये तरीका एकदम उपयुक्त है. इस तरीके में समय थोड़ा ज्यादा लगता है पर आईलैशेज हमेशा के लिए कर्ल हो जाती है और वे देखने में बेहत खूबसूरत लगेंगी.

प्रक्रिया : परमानेंट के लिए सबसे पहले कॉटन में एस्ट्रिजेंट ले कर आईलैशेज को साफ करें. क्लीजिंग मिल्क से आंखों के आस पास की सफाई करें. अब आंखें बंद करके आईलैशेज के ऊपर जहां लाइनर लगाते हैं वहां रोलर चिपकाएं. इसमें ग्लू लगा होता है जिससे चिपकाने में आसानी होती है. फिर उस रोलर के ऊपर इयर बडस की सहायता से एक से दूसरे कोने तक ग्लू लगाएं. अब आईलेशैज को इसी रोलर के ग्लू पर इयर बडस से चिपकाएं. आईलैशेज के १-१ केश को चिपकाने के बाद लैशेज पर इयर बडस से पिंक लोशन लगाएं. 10-10 मिनट के अंतराल पर इसे 2 बार लगाएं, फिर 10 मिनट बाद व्हाइट लोशन इसे भी 10-10 मिनट के अंतराल से 2 बार लगाए ऐसे ही यलो और अंत में ट्रांसपेरेंट लोशन से आईलैशेज साफ करें. यह एक क्लींजर लोशन होता है अब धीमे धीमे से आईलैशेज के केशों को हटाएं और रोलर निकाल दें. इस प्रक्रिया में लगभग एक घंटे का समय लगता है. इसे करने के बाद आंखों का मेकअप कर सकती है इसे एक माह के बाद दोबारा किया जाता सकता है.

परमानेंट मेकअप : परमानेंट मेकअप में परमानेंट रूप से लिपस्टिक, आईलाइनर और आईब्रोज बनवा सकती हैं.

इस प्रक्रिया में मशीन में कलर डालकर त्वचा में लगाया जाता है. इससे कलर त्वचा के अंदर जाता है और जल्दी हटता नहीं है. हल्का पिंक कलर मशीन में डालकर मशीन से ही लिप एरिया पर लगाएं. ब्राउन या ब्लैक कलर, मशीन में डालकर आईब्रोज पर लगाएं और ब्लैक कलर से लाइनर लगाएं यह जल्दी टूटता नहीं है.

बेहतर होगा कि ये सभी प्रक्रियाएं किसी विशेषज्ञ की निगरानी में ही करें व करवाएं इस प्रकार का मेकअप 15 वर्ष तक टिका रहता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *