मीनाक्षी छाबड़ा-महिला विशिष्ट व्यक्तित्व

घर और व्यवसाय दोनों का संतुलन बनाए रखते हुए जीवन को खुशहाल तरीके से जीना, आसपास खुशियां बिखेरना और अपने लिए भी ढेरों खुशियां समेटना, यही सपना और जीवनशैली है मीनाक्षी छाबड़ा की. जो दो बच्चों की मां है और साथ ही सूरत शहर की प्रतिष्ठित महिला रोग विशेषज्ञ चिकित्सक भी.
मीनाक्षी छाबड़ा संयुक्त परिवार में रहते हुए भी अपने चिकित्सक होने का फर्ज बखूबी निभा रही हैं.
मीनाक्षी छाबड़ा के पिता पंजाब में रसायनशाष्ट्र के प्रोफेसर थे और मां विद्यालय में शिक्षिका. इन्होंने पंजाब राज्य की मेडिकल प्रवेश परीक्षा में द्वितीय स्थान प्राप्त किया था. इनके माता-पिता की इच्छानुसार इन्होंने रविन्द्र छाबड़ा जो कि एक अच्छे सर्जन हैं, के साथ विवाह किया.
मीनाक्षी बताती हैं कि विवाह के पश्चात उनकी व्यवसायिक जिंदगी ने और गति पकड़ी, उन्होंने विवाह के पश्चात डी. जी.ए किया.इसके लिए इन्हें परिवार के सभी सदस्यों का भरपूर सहयोग मिला.
1998 से वे चिकित्सक की प्रैक्टिस कर रही है. इनका सिटीलाइट और उधना सूरत में छाबड़ा हॉस्पिटल के नाम से अस्पताल भी है. पारिवारिक जिंदगी के बारे में बताती हैं कि परिवार की जिम्मेदारियों का सदैव पूरा ध्यान रखती है. जरूरत पड़ने पर मरीजों को दूसरे चिकित्सक की निगरानी में सौंपकर पारिवारिक जिम्मेदारियों को निभाती हैं. परिवार के सदस्य भी उन्हें उनकी प्राथमिकता मरीजों को ही देने के लिए सदैव प्रोत्साहित करते हैं. अपने जीवन की सफलता में वे आनन्द हॉस्पिटल की डॉ. चेतना शाह का बड़ा हाथ मानती है. इनकी दो संतान हैं जिन्हें वे चिकित्सक ही बनाना चाहती है. उनके बच्चों का उन्हें पूरा सहयोग प्राप्त होता है. उन्हें अपनी मां के एक अच्छी चिकित्सक होने पर गर्व है.

अगर वे चिकित्सक नहीं होतीं तो क्या होतीं? के जवाब में हंसते हुए बताती है तो वे इंजीनियर या फैशन डिजाइनर होतीं. ये उनकी आज भी सबसे बड़ी अधूरी इच्छाओं और शौक में शामिल है. अपना खाली वक्त वे संगीत सुनकर बिताती है. उन्हें देश-विदेश की यात्रा करना बेहद पसंद है.
एक वर्किंग वूमेन होने के नाते वे महिलाओं और लड़कियों को उच्चशिक्षा लेने और उसे हर परिस्थिति में पूर्ण करने का संदेश देती है. उनके अनुसार शिक्षा ही सफलता की चाबी हैं. और उनके परिवार से भी उन्हें इसे पूर्ण करने और आगे बढ़न में सहयोग देने की बात कहती है.

महक डेस्क

प्रस्तुत स्तंभ के लिए अपने अनुभव हमें इस पते पर भेजें…
महक संपादकीय विभाग, गुरूकृपा बिल्डिंग, बजेमेंट ,बैंक ऑफ बड़ौदा के पास, रांदेर रोड, सूरत. गुजरात एसएमएस से अपनी राय 7574860097 पर भेजें.

mahaksurat@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *