मिट्टी के ट्रेंडी दीये

 महक का ये अंक जब आपके हाथों में होगा तब आप दीवाली की तैयारियों में जोर शोर से लगे हुए होंगे. दीवाली पर सफाई, खरीदारी दो मुख्य कार्य होते हैं. यूं तो दीवाली पर बहुत कुछ खरीदा जाता है, कपड़े, बरतन, नया इलेक्ट्रॉनिक आइटम, गहने लेकिन इसमें से आवश्यक खरीदारी होती है दियों की. दिए जो कि मिट्ट¸ी से बनते हैं. दीपावली पर दीए जलाना यानि की दीपमाला करना न केवल शुभ होता है वरन इन्ही दियों की वजह से दीपावली प्रकाशोत्सव बनती हैं. दीवाली के अमावस्या के अंधेरे को ये नन्हें नन्हें दिए अपने प्रकाश से दूर कर देते हैं और जमीन से आसमान तक मनाते हैं प्रकाशोत्सव.
आज भी ये परंपरा कायम हैं परंतु परिवर्तन हर जगह हुआ है तो दिए भी इनसे अछूते नहीं रहे हैं.आज विभिन्न डिजाइनों और रंगों में कई तरह के दिए उपलब्ध हैं.

कला और हैंडीक्राफ्ट से संबंध रखने वाली सामग्री का सूरत में एक बड़ा केन्द्र है नवरंग स्टोर. अडाजन स्थित इसकी शाखा पर दियों का भंडार है यहां पर डिजाइनर दियों के सैट उपलब्ध हैं जो कि ४,६ और ८ के जोड़ों में उपलब्ध हैं. दियों के स्वरूप में भी आपको ढेरों विकल्प यहां मिलेंगे जैसे गोल दिए, स्टार की आकृति के, स्वास्तिक और अन्य ऐसी कई सांस्कृतिक आकृतियों जोकि पूजा के अनुसार शुभ मानी जाती हंंंै. जैसे ऊं की आकृति, साथ ही हमेशा की तरह पंचमुखी और ढेरों ज्यामितिय आकृतियों के दिए भी यहां उपलब्ध हैं. इन दियों को बेहद खूबसूरत रंगों से सजाया गया है जिसमें कहीं कूल कलर्स के संयोजन हैं तो कहीं वार्म कलर्स के, तो कहीं एकदम विरोधाभासी रंगों से इनमें विभिन्न तरह की डिजाइनें बनाई गई हैं. इसी सिलसिले में हमने बीना हर्षकांत से मुलाकात की. जो कि पिछले तीन वर्षों से सूरत में हैं और घर से ही दियों का व्यवसाय करती हैं. बीना बताती हैं कि इस बार हांडी दियों के साथ साथ हैंगिंग दियों से बाजार गर्म रहेगा. हांडी दिये ३०० से ४५० रूपए में एक दर्जन मिल जाएंगे, अन्य दिये १०० रूपए में चार के सैट में उपलब्ध हैं. हैंगिंग दिए, यदि एक दिये का है तो ७०-८० रूपए में उपलब्ध है. हैंगिंग दिये एक छड़ के आस पास गोलाकार रूप से तीन से पांच दियों से बनाए गए हैं. साथ ही ये लेयर के रूप में भी उपलब्ध हैं. इनमें छोटे दिए छड़ के ऊपरी भाग में जबकि उनसे थोड़े बड़े नीचे के भाग में लगे होते हैं. इन दियों की विशेषता है कि ये दिए अपने प्राकृतिक गेरू रंग में उपलब्ध हैं. इन्हें आप घर पर लाकर रंग और डिजाइनों से सजा सकती हैं. कुछ खरीदारों से बात करने पर बड़ी ही रोचक व दिलचस्प जानकारी मिली. कोमल मिस्त्री लाइसन वेंचर में वेब डेवलपर का कार्य करती हैं उन्होंने बताया कि दियों की खरीदारी वो सिर्फ दीपावली में जलाने के लिए नहीं बल्कि घर के इंटीरियर में भी प्रयोग करती हैं. हर साल दीवाली पर नए दिये खरीदकर घर का एक कोना दियों से सजाती हैं. नेहा सिंह ने इन दियों को अपने रिश्तेदारों को, जो दूसरे शहरों में रहते हैं को, उपहार में देने के लिए खरीदा है.
कुछ लोग इन दियों से भी रंगोली बनाते हैं. आप भी इस बार इन आधुनिक ट्रेंडी दियों को खरीदें अपनों को तोहफे में दें और घर के द्वार और आंगन को इनसे सजाएं. इन्हें रोशन करें और दीपोत्सव का आनंद उठाएं.

गरिमा जयेश सिंह

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *