भीगने दें जुल्फों को

बारिश में केशों के खराब होने के डर से यदि आप रिमझिम बारिश की मस्ती का आनन्द उठाने से डरती हैं तो आजमाइये ये टिप्स और लुत्फ़ उठाइये बारिश की फुहारों में भीगने का, टिप्स बता रही हैं सौंदर्य विशेषज्ञ श्रीमती बलजीत कौर.
ना झटको जुल्फ से पानी ये मोती टूट जाएंगे”
मोहम्मद रफ़ी को मीठी आवाज का जादू और बारिश की रिमझिम एक अलग ही समां बांध देता है. बारिश में भीगने का आनन्द बच्चों से लेकर बड़ों तक सभी को लुभाता है. फिर बालों के भीग जाने से, खराब होने के डर से प्रकृति के इस उपहार के आनन्द सें वंचित क्यूँ रहना, आइए जानते हैं इन समस्याओं और इनके समाधान के बारे में..
मानसून का मौसम आते ही केशों की समस्यायें शुरू हो जाती हैं. मौसम की आद्रता के चलते केश उलझे, चिपचिपे और बेजान नजर आने लगते हैं. इस मौसम में मौजूद वातावरण की नमी बालों को जड़ों से कमजोर बना देती है और बाल काफी ज्यादा मात्रा में झड़ने लगते हैं. ऐसे में इन्हें विशेष सारसंभाल, देखभाल की जरूरत पड़ती है.
देखभाल…
अपने बालों की नमी की प्रकृति को जानें और उसी के अनुसार हेयर प्रोडक्ट का चुनाव करें. इस मौसम में आम धारणा के विपरीत हफ्ते में कम से कम 3 बार शैंपू अवश्य करें. शैंपू प्रकृति में माइल्ड होना चाहिए पर उसकी मात्रा थोड़ी ज्यादा रखें जिससे बाल अच्छी तरह साफ हो सकें. नियमित सफाई मृत कोशिकाओं और गंदगी को साफ रखती है. शैंपू के साथ-साथ इस मौसम में कंडीशनिंग भी बेहद आवश्यक है. कंडीशनर का प्रयोग केशों के सिरों पर करें इससे बाल स्मूद और मजबूत रहेगें.
एवोकेडो और रोजमैरी युक्त कंडीशनर का चयन करें ये बालों को घना और चमकदार बनाता है. बाल यदि बारिश में भीग गए हैं तो तुरंत उन्हें शैंपू और कंडीशनर दोनों करें. बालों को पूरी तरह सूखने पर ही कंघी करें. इस समय कंघी बड़े दांतों वाली कंघी से करें.
डैंड्रफ की समस्या
इस मौसम में स्कैल्प का रूखापन, वातावरण में मौजूद नमी के साथ मिलकर सिर में डैंड्रफ (रूसी) पैदा करता है इससे बचाव के लिए नारियल तेल को गुनगुना कर बालों की जड़ों में लगाने से डैंड्रफ से मुक्ति मिलती है साथ ही सिर की स्कैल्प में रक्त संचार भी बढ़ता है.
हेयर स्टाइल
मानसून में छोटे बालों को ध्यान रखना आसान होता है इस मौसम में बालों में कर्लिंग या स्ट्रेटनिंग ना करवाएँ साथ ही इस मौसम में स्प्रे और जैल का भी केशों में प्रयोग ना करें. बाहर निकलते समय बालों को खुला न रखें. चोटी, जूड़ा या फ्रेंच नॉट बनाएँ.
महत्वपूर्ण बातें

भरपूर नींद लेना केशों की मजबूती के लिए लाभकारी है. संतुलित प्रोटीन से भरपूर भोजन लें. दूध और दूध से बनी चीजों को खाने में शामिल करें. सोयाबीन, अंकुरित अनाज, अंडों को अपनी डाइट में शामिल करें. रोजाना 20 मिनट तक नारियल तेल से बालों की मसाज करनी चाहिए. इससे केश घने और मजबूत बनते हैं. भीगे बालों  को सूखे तौलिए से अच्छी तरह सुखाकर ही कंघी करें. तो फिर देर किस बात की, बारिश प्रकृति का सबसे खूबसूरत तोहफा है उसका भरपूर आनन्द उठाइये.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *