बिटकॉइन या ब्लैक मनी को वाइट में तब्दील का तरीका

बिटकॉइन  या ब्लैक मनी को वाइट में तब्दील का तरीका

अगर आप बिटकॉइन में पैसे लगा रहे हैं या लगाने की सोच रहे हैं तो इस पर भी विचार कर लीजिएगा कि जब बिटकॉइन का बुलबुला फूटेगा तो इसे कैश कैसे करवाएंगे। इस पर विचार करना इसलिए जरूरी है कि बिटकॉइन की मांग बढ़ने के साथ ही इसका ट्रांजैक्शन टाइम भी बढ़ रहा है। मंगलवार 19दिसंबर 2017को एक बिटकॉइन की ट्रेडिंग कन्फर्म होने में औसतन साढ़े चार घंटे का वक्त लग रहा है।
भारत सरकार  का स्टैंड
अपने स्टैंड को एक बार फिर से स्पष्ट करते हुए सरकार ने मंगलवार को कहा कि उसके पास वर्जुअल करंसी को लेकर कोई डेटा नहीं है। वित्त राज्य मंत्री पोन राधाकृष्णन ने लोकसभा में कहा कि रिजर्व बैंक ने भी समय-समय पर वर्चुअल करंसीज के यूजर्स, होल्डर्स और ट्रेडर्स को चेताया है। केंद्रीय बैंक ने इस करंसी का कारोबार करने वाले लोगों को संभावित वित्तीय, ऑपरेशन, लीगल और सिक्योरिटी संबंधित खतरों के बारे में आगाह किया है। सोमवार को ही इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने कहा था कि वह वर्चुअल करंसी में कारोबार करने वाले 4 से 5 लाख अमीर लोगों को नोटिस जारी करेगा। जानें, क्यों बिटकॉइन को लेकर आशंकित है सरकार…

बिटकॉइन में निवेश

बिटकॉइन में निवेश करने वाले अमीर लोग वे हैं, जो इस ऑनलाइन करंसी के जरिए अपनी पूंजी को तेजी से बढ़ाना चाहते हैं। पिछले सप्ताह आयकर विभाग ने ऐसे 9 एक्सचेंजों का सर्वे किया था और टैक्स चोरी के मामलों की पड़ताल की थी। टैक्स अधिकारियों का कहना था कि इन एक्सचेंजों में 20 लाख लोगों का रजिस्ट्रेशन है, जिनमें 4 से 5 लाख लोग इसमें सक्रिय हैं।

क्या आपको इसमें निवेश करना चाहिए

निश्चित तौर पर कुछ ऐसे लोग हैं, जो इसमें निवेश को लेकर उत्साहित हैं। लेकिन, इसमें निवेश के अपने रिस्क और सुरक्षा से संबंधित खतरे भी हैं। इंडिया फर्स्ट लाइफ इंश्योरेंस के चीफ इकॉनमिक ऑफिसर ए.के श्रीधर ने कहा, ‘लोग इसे बुलबुले की तरह देख रहे हैं, लेकिन किसी भी बुलबुले के नीचे साबुन का पानी भी होना चाहिए।
बिटकॉइन से ब्लैक मनी का है खतरा?

अधिकारियों को आशंका है कि नोटबंदी के बाद लोग ब्लैक मनी को वाइट में तब्दील करने के लिए बिटकॉइन में ट्रेड कर सकते हैं। सरकार को आशंका है कि इसी वजह से बिटकॉइन की कीमतों में तेजी से इजाफा देखने को मिल रहा है।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *