कलाकार जो समय से पहले कह गए अलविदा.

ग्लैमर की चकाचौंध से सजा बॉलीवुड के पीछे का सच उसके पर्दे की तरह खूबसूरत नहीं है. वहां हमेशा तनाव का खतरनाक साया मंडराता रहता है.

सफलता से असफलता, काम न मिल पाना, प्रेम संबंध, मीडिया में नाम बदनाम के साथ ढेरों ऐसी बातें हैं जिन्हें समझ पाना सामान्य व्यक्ति के लिए मुश्किल है. ऐसे ही तनावों को धैर्यपूर्वक झेल न पाने पर कई सितारे समय से पहले ही डूब गए. ये सच है कि ग्लैमर वर्ल्ड के पीछे तन्हाईयां होती हैं पर संयम रख कर ही व्यक्ति इनसे उबर सकता है. इनका धैर्य-पूर्वक सामना ही इसका एकमात्र सही उपाय है.

अपनी पहली ही फिल्म में अमिताभ बच्चन जैसे ऊंचे कद के कलाकार सितारे के साथ अभिनय करके फिल्मी दुनिया में चमकने वाली जिया खान ने समय से पूर्व ही अपनी मृत्यु को स्वयं गले लगा लिया. जिया ने आमिर खान के साथ गजनी और अक्षय कुमार के साथ हाउसफुल फिल्म में अभिनय किया था. जिया बेहद संवेदनशील थीं परंतु काफी समय से फिल्मों के न मिलने के कारण वे तनाव में थी. ३ जून की रात ११ बजे के आसपास २५ वर्षीय जिया खान जिनका असली नाम नफीसा खान था ने कार्य के तनाव या शायद एक और वजह उनके सूरज पंचोली से प्रेम संबंध में असफलता के तनाव से इतना बड़ा कदम उठा लिया.

बॉलीवुड की एक और कम उम्र खूबसूरत चेहरे और मासूम अदाओं की मालिक दिव्या भारती ने मुंबई स्थित अपनी बिल्डिंग से नशे की हालत में कूद कर आत्महत्या कर ली. पुलिस ने इसे आत्महत्या का केस बताया. लोगों में इसकी चर्चा साजिद नाडियादवाला से उनके प्रेम संबंध था हालांकि उस समय दिव्या भारती काफी सफल अभिनेत्री थीं.

मिस वर्ल्ड और मॉडल नफीसा जोसेफ ने भी २६ वर्ष की आयु में ही बंगलौर स्थित अपने घर में आत्महत्या कर ली. मृत्यु से एक दिन पूर्व उन्होंने अपने मंगेतर से सारे संबंध तोड़ दिए थे.डर्टी पिक्चर के मूल कथानक की मूल अभिनेत्री सिल्क स्मिता की चेन्नई स्थित उनके धर से लाश मिली थी. उनके करीबी बताते हैं कि सफलता की ऊंचाईयों से नीचे आने, प्रेम में धोखा खाने साथ ही असफलता और गुमनामी के अंधेरों में खो जाने की वजह से उन्होंने आत्महत्या कर ली. अतीत के पन्नों में भी बालीवुड इस प्रकार के गमों से जूझता रहा है जब खूबसूरत चेहरे, अपनी अदाओं से करोड़ों दिलों पर राज करते रहे परंतु काम के तनाव, प्रेमसंबंधों और गिरते सफलता के ग्राफ के तनाव से समय से पहले ही जिंदगी से हार मान बैठे.

खूबसूरती की बेमिसाल साम्राज्ञी मधुबाला का अंत बेहद दुखदायी रहा. अकेलेपन और तनाव की वजह से मात्र ३६ वर्ष की आयु में उन्होंने प्राण त्याग दिए और रूपहला पर्दा एक खूबसूरत चेहरे और बेहतरीन अदाकारा से वंचित हो गया. ट्रेजडी क्वीन मीना कुमारी की जिंदगी भी किसी ट्रेजडी से कम नहीं रही. प्रेम की तलाश में वे इतना थक गई कि नशे का सहारा ले लिया और मात्र ३९ वर्ष की आयु में शेर और गज़़लें लिखने वाली अदाकारा स्वयं गज़़ल बनकर अनंत में विलीन हो गई. और हिन्दी सिनेमा ने एक महान अदाकारा को खो दिया.

धीमी आवाज और बेहतरीन अभिनय के मालिक गुरूदत्त मात्र ३९ वर्ष की आयु में मृत्यु के शिकार हो गए. आत्महत्या या हत्या ये प्रमाणित नहीं हो पाया परंतु अपने पहले प्रेम और पत्नी गीता दत्त एवं दूसरे प्रेम वहीदा रहमान के साथ सामंजस्य न बैठा पाने के कारण वे बेहद तनाव में रहते थे. इसी के चलते वे नशे की लत में डूब गए थे. गुरूदत्त हिन्दी सिनेमा के बेहतरीन कलाकार के साथ साथ बेजोड़ निर्देशक भी थे.

मात्र ३६ वर्ष की आयु में चेचक जैसी साधारण बीमारी से काल के गाल में समा जाने वाली अभिनेत्री गीता बाली, शम्मीकपूर की पत्ïनी थीं. मृत्यु के समय वे राजेन्द्र सिंह बेदी की पंजाबी फिल्म में अभिनय कर रही थीं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *